उद्योग आधार क्या है (Udyog Aadhar registration )

दोस्तों के साथ शेयर करे
Udyog Aadhar

Udyog Aadhar आपने सुना होगा कि कोरोना महामारी की वजह से देश के प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत की मुहिम पर देश की वित्तीय मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश के हित में 20 लाख करोड़ रुपये को सहायता राशि के तौर पर देश मे लागू किया था।

इसी के साथ देश के छोटे और मध्यम गृह उद्योग व सामान्य उद्योगों को बढ़ावा देने हेतु MSME को भी इस लाभ राशि की सूची में रखा गया था। इसी MSME से जुड़ा एक ओर लाभ हम आपको इस लेख में बता रहे हैं जिसमे हम ओर आप आधार उद्योग के नाम से जानते हैं। हम हमारे इस लेख में इसी आधार उद्योग से जुड़ी जानकारी आपको देने जा रहे हैं तो आप इस लेख को अंत तक पढ़े ताकि आप इस आधार उद्योग के बारे में समझ सके।

आधार उद्योग क्या हैं ? ( what is Udyog Aadhar )

देश के युवा खुद के व्यवसाय को आरम्भ करने की सोचते है परन्तु किन्ही ऐसे कारणों से वे अपने व्यवसाय के idea को छोड़ देते जो कि उन्हें ऐसा करने से रोकते हैं। आधार उद्योग एक ऐसा सिस्टम है जिसके जरिये आप आसानी से आधार कार्ड के जरिये अपने छोटे व मध्यम व्यवसायों को रजिस्टर करवा सकते हैं।

अगर देश का कोई व्यवसायी देश मे चल रही या आने वाली सरकारी योजनाओं काल लाभ लेना चाहते हैं तो उन्हें आधार रजिस्टर करवाना होगा। इस आधार उद्योग से छोटे व्यवसायी सरकार की योजनाओ का आसानी से फायदा उठा सकते हैं। आधार उद्योग का रजिस्ट्रेशन प्रोसेस एकदम निःशुल्क है, इसके लिये आपको कुछ भी फीस देने की जरूरत नही हैं। आधार उद्योग में रेजिस्ट्रेशन कि संख्या 12 अंको की होती हैं जिसे आपको सही सलामत आपके पास रखना होता हैं।

आधार उद्योग की शुरुआत (Starting of Udyog Aadhar)

2015 का वो साल था जब केंद्र सरकार के सम्मानीय मंत्री श्री कलराज जी ने इस मुद्दे को लेकर अचानक बैठक बुलाई ओर आधार उद्योग रेजिस्ट्रेशन व आधार उद्योग को उपयोग में लाने की बात कहीं। आधार उघोग वास्तव में आज एक अच्छी मुहिम साबित हो रही हैं।

आधार उद्योग की शुरुआत क्यों कि गई ( why Udyog Aadhar started )

देश के छोटे और मध्यम व्यवसायियों ओर उनके व्यवसायों को आगे बढ़ाने और लोकल को वोकल बनाने के लिए देश मे इस आधार उद्योग की शुरुआत की गई। अगर हम 2015 से पहले की बात करे जब आधार उद्योग की शुरुआत नही हुई थी तब सरकार सिर्फ छोटी कंपनियों पर ही ध्यान देती थी, परन्तु इस आधार उद्योग के बाद अब सरकार छोटे और मध्यम व्यवसायियों ओर गृह उघोगों पर भी ध्यान देने लगी हैं।

सरकार ने देश मे चल रहे छोटे और मध्यम व्यवसायों को सक्ष्म बनाने और उन्हें बढ़ावा देने के उद्देश्य से इस आधार उद्योग की शुरुआत की गई थी। केंद्र सरकार दुवारा देश मे छोटे व मध्यम व्यसायो को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं चलती हैं जिनका सीधा फायदा पहले छोटे और मध्यम व्यवसायों को नही मिलता था पर अब इस आधार उद्योग से सभी सरकारी योजनाओं का फायदा छोटे और मध्यम किसान आसानी से ले सकेंगें।

आधार उद्योग की विशेषताएं ( Features of Udyog Aadhar )

आधार उद्योग छोटे व मध्यम उधमियों के लिए व्यवसाय करने की राह को आसान बनाता है। आधार उद्योग की विशेषताएं निम्न हैं।

  • आधार उद्योग की विशेताओ में सबसे मुख्य यह हैं कि इसका फायदा हर वो उधमी ले सकता हैं जो यह चाहता है कि वह अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाएं ओर एक नई दिशा दे।
  • आधार उद्योग का प्रोसेस पुरी तरह ऑनलाइन इस वजह से व्यवसायी इस आधार उद्योग में रेजिस्ट्रेशन करने के लिए आगे आ रहे हैं।
  • आधार उद्योग हेतु कोई ज्यादा दस्तावेजो की आवश्यकता नही पड़ती बल्कि कुछ ही जरूरी दस्तावेज जैसे आधार कार्ड और प्रोपरेटेर कि जानकारी इतियादी।
  • आधार उधोग में देश के छोटे व बड़े उधमी आसानी से रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

आधार उद्योग के उद्देश्य ( key features of Udyog Aadhar)

आधा उद्योग करने की मांग जिस तरह से लोगो मे बढ़ रही हैं उसी तरह आधार उद्योग की विशेताये के साथ आधार उद्योग के उद्देश्यों को भी जानना जरूरी हो गया हैं। आधार उद्योग के कुछ उद्देश्य निम्न हैं।

  • पंजीकरण प्रक्रिया को सरल बनाना : आधार उद्योग का एक उद्देश्य पंजीकरण प्रक्रिया को सरल बनाना हैं जिसमे मुख्य रूप से छोटे व मध्यम उद्योगों को बढ़ावा देने हेतु इसके पंजीकरण प्रोसेस की पूरा ऑनलाइन किया गया हैं। पहले इसमें पंजीकरण की प्रक्रिया काफी उलझी हुई थी जिसमे व्यवसायियो को सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाने पड़ते थे उसके बाद कि क्या पता था कि इस उद्योग में आपका रजिस्ट्रेशन होगा। जब से आधार उद्योग की प्रक्रिया online हुई है तब यह काफी आसान हो गया है और पंजीकरण प्रक्रिया भी एकदम सरल हैं।
  • बेरोजगारी नियंत्रण : आधार उद्योग से पहले छोटे व मध्यम व्यवसायी के लिए व्यवसाय आगे बढ़ाना आसान नही होता था। इस आधार उद्योग से जो लोग नए idea के साथ व्यवसाय की शुरुआत करना चाहते हैं तो वो भी कर सकते हैं। आधार उद्योग से व्यवसाय के लिए लोन भी मिलता है तो यह आसान हो जाता हैं बेरोजगारी घटाने के लिए।
  • व्यवसाय प्रक्रिया को पुरी तरह ऑनलाइन करना – आधार उद्योग से हर कोई रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन कर सकता हैं, तो यह एक अच्छा मौका हैं ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन को बढ़ाने का।
  • छोटे व्यवसायियो को लाभ पहुचाना – आधार उद्योग के माध्यम से छोटे और मध्यम वर्ग के व्यवसायी आसानी से इसके लिए रजिस्टर कर सकते हैं ताकि उनको भी लाभ मिले।
  • छोटे व्यवसाय को बढ़ावा देना – आधार उद्योग से  छोटे व मध्यम उद्योगों को बढ़ावा देने इसका मुख्य उद्देश्य हैं।

आधार उद्योग के लाभ ( Benefits of aadhar udhyog )

आधार उद्योग के ऑनलाइन process करने से  छोटे व मध्यम व्यवसायी ओर व्यवसायों को काफी हद्द तक लाभ हुआ हैं जिनमे से कुछ लाभ निम्न हैं।

  • घर बैठे पंजीकरण – पहले लोगो को अपने उद्योग के रजिस्ट्रेशन हेतु सरकारी कार्यालयों में चककर लगाने पड़ते थे परंतु इस ऑनलाइन प्रक्रिया से यह काफी हद तक आसान हो गया हैं और आप घर बैठे आसानी से इसके लिये रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।
  • ऋण लेने में आसानी – अगर आपके पास आधार उद्योग का रजिस्ट्रेशन हैं तो आप आसानी से अपने नजदीकी सरकारी और निजी बैंक से लोन ले सकते हैं। अगर आप अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाना चाहते हैं ओर आपके पास वित्त की कमी हैं तो आप इस आधार उद्योग रजिस्ट्रेशन की मदद से बैंक से लोन के सकते हैं।
  • सरकार से सहायता – अगर आप चाहते हैं कि व्यवसाय को बढ़ाने में सरकार आपकी मदद करे तो यह काफी आसान होगा कि आप इस आधार उद्योग की मदद से सरकार से सहायता ले सकते हैं।
  • सम्पूर्ण प्रकिया ऑनलाइन – आधार उद्योग से उद्योग रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन हो गई हैं जिस वजह यह काफी आसान ही जाता हैं कि आपको कही जाने की जरूरत नही पड़ती आप घर बैठे ही सब कुछ online कर सकते हैं।
  • जरूरी जानकारी का संलग्न – जैसा कि हैं सब जानते हैं की इस आधार उद्योग का रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपकी पूरी जानकारी का ऑनलाइन किया जाना जरूरी होता है जिसमे आपका नाम , व्यवसाय का नाम, आपका आधार, आपके व्यवसाय के वित्त से जुड़ी जानकारी इतियादी शामिल हैं। यह सब online करने के बाद आपको काफी सुविधा मिलती हैं क्योंकि सरकार के पास आपके व आपके व्यवसाय से जुड़ी जानकारी पहले से होती हैं।
  • लोकल को वोकल बनाना – इस नए अपडेट में कोरोना की वजही से स उद्योग के उदेश्यों में नए बदलाव किए गए हैं जिसमे से एक मुख्य हैं जिसमे सूक्ष्म, लघु ओर मध्यम व्यवसाइयों को बढ़ावा देना हैं जिससे वो लोकल से वोकल बन सके।
  • व्यवसायों के लिए नए अवसर – इस आधार उद्योग से व्यवसायी अपने उद्योगों के लिए नए अवसर प सकते हैं, आधार उद्योगो को बढ़ावा देना भी मुख्य उद्देश्य हैं।

आधार उद्योग के लिए जरूरी दस्तावेज ( Required document for aadhar udhyog )

अगर आप भी एक छोटे व मध्यम व्यवसायी हैं और चाहते हैं आधार उद्योग रजिस्ट्रेशन करना तो इस प्रक्रिया में जो भी जरूरी दस्तावेजो की आवश्यकता होती हैं वो यह हैं।

  • आधार कार्ड – आधार उद्योग जैसा कि नाम से ही विधित हैं कि इस के लिए आधार कार्ड की आवश्यकता होती हैं। बिना आधार कार्ड के आधार उद्योग करना मुश्किल हो जाता हैं। आधार कार्ड का उपयोग करने से पहले इस बात का जरूर ध्यान रखे कज आधार कार्ड में पूर्व में दर्ज आपकी जानकारी जैसे आपका नाम, जन्म दिनांक एकदम सही हो क्योंकि रजिस्टर के बाद आपका detail बदलना काफी मुश्किल सा हो जाता हैं।
  • आधार में मोबाइल और ईमेल : आधार उद्योग को रसजिस्ट्रेशन करने से पहले इस बात का जरूर ध्यान दे कि आपके आधार में मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी दोनो रजिस्टर हैं क्योंकि इसके बिना बिना रजिस्टर करना मुश्किल हो जाता हैं। जब भी आप रजिस्टर करते हैं तो आपके आधार में रजिस्टर नंबर और ईमेल पर otp आता हैं जिससे आपका आधार वेरीफाई होता हैं।
  • मूलनिवास प्रमाण पत्र – आवेदक जो भी आधार उद्योग के लिए रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं उनके लिए जरूरी हैं कि वो अपना मूल निवास प्रमाण पत्र बनवा ले क्योंकि आधार में आपके कंपनी, उद्योग और आपका पता बताना जरूरी होता हैं । आवेदक अपना मूल निवास प्रमाण पत्र अपने तहसील कार्यालय से बनवा सकते हैं।
  • बैंक खाता – आवेदक के लिए अपने उद्योग को चलाने के लिए बैंक खाते की आवश्यकता होती हैं वैसे ही आधार उद्योग के लिए बैंक खाते की आवश्यकता होती है। आधार उद्योग में बैंक खाते का होना जरूरी होता हैं।
  • आवेदक का पैन कार्ड – आधार अद्योग रजिस्टेªशन के लिए आवेदक का पैन कार्ड भी जरूरी होता है ताकी आपके व्यवसाय / उद्योग मे आय – व्यय की पहचान की जा सके। 
  • आधार कार्ड नही होने की स्थिति मे – अगर आवेदक के पास आधार कार्ड नही है तो ऐसी स्थिति मे आवेदक को अपने नजदीकी आधार केन्द्र पर जाना होगा ओर वहा पर आधार कार्ड के लिए एप्लाई करने के 2-3 दिन बाद वापस पे आधार उद्योग के लिए रजिस्टेªशन कर सकते है वो भी आधार एनरोलमेंट नम्बर से। 
  • कम्पनी / उद्योग मे काम कर रहे कर्मचारी – आवदेक जो आधार उद्योग कार्ड के लिए रजिस्ट्रेशन करना चाहते है उनके पास यह जानकारी उपलब्ध होनी चाहिए की उनके उद्योग / व्यवसाय मे कितने कर्मचारी कार्य कर रहे है ओर वो कर्मचारी कितनी मशीनरी के साथ कार्य कर सकता है। 
  • पूर्व मे रजिस्टेशन की स्थिति – अगर आपने पूर्व मे आधार उद्योग के लिए रजिस्ट्रेशन कर रखा है तो उसके बारे मे भी जानकारी देनी होगी ताकि इसकी जानकारी सम्बंधित व्यवसाय ओर ब्याज पोर्टफोलियो मे जुड सके। अगर आपके पास एक से अधिक कम्पनी है तो उसके बारे मे भी आपको बताना होगा। 
  • यू.ए.एम नम्बर – उद्योग रजिस्टेशन के लिए आवेदन के पास एक यू.ए.एम नम्बर होना जरूरी होता है जो की सरकार द्वारा कम्पनी अधिनियम के तहत दिया जाता है। 

यू.ए.एम नम्बर क्या होता है  ( What is UAN Number )

यू.ए.एम ( U. A. M )  यानी उ़द्योग आधार मेमोरेंडम ( Udhyog Aadhar Memorandam ), यह एक ऐसी प्रकिया है जिसमे जिसमे आप अपने उद्योग का Registraion केवल एक फाॅर्म भर कर करवा सकते है। भारत मे इस सुविधा का संचालन यू.ए.एम विभाग द्वारा किया जाता है।

यू.ए.एम के लिए ऐसे करे आवेदन :

अगर आप भी आधार उद्योग से पूर्व यू.ए.एम के लिए रजिस्टर करना चाहते है तो यह एक आसान प्रक्रिया है जिसे आप आसानी से फाॅलो कर सकते है। 

  • http://udyogaadhaar.gov.in/UA/UA_EntrepreneurLogin.aspx सर्वप्रथम आपको इसकी अधिकारीक वैबसाईट पर जाना होगा। 
  • उसके बाद आप अपने आधार कार्ड मे मोबाईल नम्बर के जरिये अपना Registraion कर सकते है। 
  • रजिस्टर करने के बाद आपको अपने उद्योग आधार मेमोरेंडम को वेरिफाई करना होगा जिसे आप आसानी से मोबाईल ओटीपी के जरिये कर सकते है या आधार कार्ड की काॅपी अपलोड कर के कर सकते है।
  • उद्योग आधार मेमोरेंडम के लिए केवल नही रजिस्टर करवा सकते है जिनके पहले से कम्पनी / उद्योग है, वो नही जो की भविष्य मे कभी कम्पनी खोलंेग। इस आसान प्रक्रिया से आप उद्योग आधार मेमोरंडम का रजिस्ट्रेशन करवा सकते है। 
  • उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन के लिए फिलहाल कोई राशि तय नही कि गई है कितने टर्न ओवर वाले कम्पनी / उद्योग इसके लिए रजिस्टर कर सकते है। परन्तु अगर माना जाये तो उत्पाद वाली कम्पनी 10 करोड से कम टर्न ओवर वाली ओर सेवाए देने वाली कम्पनी 10 करोड के टर्नओवर वाली कम्पनी इसके लिए रजिस्टर कर सकती है।

उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन ( How to apply for Aadhar Udhyog ) 

अगर आप भी आधार उद्योग के लिए रजिस्टर करने की सोच रहे तो हम आपको आसानी तरीको मे समझा रहे है की आप कैसे आधार उद्योग के लिए रजिस्टर कर सकते है।

Udyog Aadhar Registration

  • आधार उद्योग करने के लिए सर्वप्रथम आपको उद्दयोग आधार की वैबसाईट पर जाना होगा जो की यह है। https://udyamregistration.gov.in/
  • इस साईट पर आने के बाद को कुछ आसान से प्रोसेस फोलो करने होंगे जो की आसान है। 
  • आधार उद्योग की साईट पर आने के बाद आपको इस साईट के होम पेज पर दो ओप्शन दिखाई देंगे जिसमे से पहला ओपशन आपसे आपका आधार कार्ड नम्बर मांगेगा उसके बाद दूसरा ओप्शन होगा जो की आधार कार्ड होल्डर्स का नाम मांगेगा, आपको इन दोनो काॅलम को सही तरह से फरना होगा। दोनो कोलम भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा ओर उसके बाद आप अगले पेज पर आ जायेंगे। 
  • अगले पेज पर आपको अपना आधार कार्ड को वेरिफाई करना होगा, इस प्रक्रिया मे आपसे ओटीपी मांगे जायेंगे जो की आपको आधार कार्ड भरते समय आपके मोबाईल नम्बर पर भेजे जायेंगे। अगले स्टेप्स मे आपको मोबाइल पर आया ओटीपी भर कर वेलिडेट पर क्लिक करना होंगा। 
  • उसके बाद अगले चरण मे आपको अपनी सामाजिक कैटेगिरी जैसे ओबीसी, एस.सी, एस.टी इत्यादी भरनी होगी 
  • अगल चरण मे आपको अपना जेण्डर जैसे पुरूष व महिला का चुनाव करना होगा। 
  • अगले चरण मे आपको अपने अद्योग या कम्पनी का नाम लिखना होगा उसके बाद रजिस्टर करना होगा 
  • अगले चरण मे आपके अपने संस्थान / व्यवसाय का प्रकार पूछा जायेगा जिसका चुनाव आपको करना होगा। 
  • अगले चरण मे आपको पैन कार्ड नम्बर दर्ज करना होगा। 
  • अगले स्टेप मे आपको आपके कम्पनी / फर्म का पता दर्ज करना होगा 
  • अगले चरण मे आपको उस दिनांक का चुनाव करना होगा जिसे तारिख को आपने कम्पनी / फर्म का श्रीगणेश किया है। 
  • उसके बाद अगले चरण मे आपको यू.ए.एम नम्बर दर्ज करना होगा, अगर आप पहली बार आवेदन कर रहे है तो आपको इस काॅलम मे ‘‘नही’’ दर्ज करना होगा। 
  • अगले चरण मे आपको अपना बैंक खाता, और खाते का आई.एफ.एस.सी कोर्ड दर्ज करना होगा। 
  • अगले चरण मे आपके फर्म मे होने वाले कार्य की जानकारी के बारे मे बताना होगी की आप उत्पादन कर रहे है या सेवाए दे रहे है उन सब को सावधानी से भरना होगा। 
  • अलग चरण मे आप एन.आई.सी नम्बर को दर्ज करना होगा। 
  • अगले चरण मे आपको आपकी कम्पनी से जुडे व्यक्तिया व कर्मचारियो की जानकारी देनी होगी। साथ ही आपके द्वारा किये गये निवेश की सूचना जरूर भरे। 
  • अगले चरण मे आपको डी.आई.सी का चुनाव करना होगा जिसका पुरा नाम जिला इंडस्ट्री सेन्टर ( DIC – District Industry Center )  होता है। 
  • इतना सब कुछ करने के बाद आपको अपने द्वारा भरी गई जानकारी को सबटिम करना होगा। इसके बाद आप इसकी Print ले सकते है। 
  • फाॅर्म भरने के बाद यह एप्पव्रूव हो जायेगा जिसके बाद आपको आपका आधार उद्योग नम्बर मिल जायेगा। 

आधार सर्टिफिकेट को प्रिंट कैसे करे ( How to print Certificate ) 

अगर आपका आधार उद्योग जारी हो जाता है तो आप इसके प्रमाण पत्र की प्रिंट आसानी से ले सकते है। 

  • आधार उद्योग करने के लिए सर्वप्रथम आपको उद्दयोग आधार की वैबसाईट पर जाना होगा जो की यह है। https://udyamregistration.gov.in/
  • इस साईट पर आने के बाद को कुछ आसान से प्रोसेस फोलो करने होंगे जो की आसान है। 
  • इस साईट के होम पेज पर आने के बाद आपको Print Certifiate वाले ओप्शन पर जाना होगा। 
  • इस पेज पर आने के बाद आपको अपना यू.ए.एम नम्बर ओर मोबाईल नम्बर डालना होगा ओर उसके बाद सबमिट करने के बाद आपके नम्बर पर एक ओटीपी आयेगा उसे सबमिट करने के बाद आप आसापी से अपने प्रमाण पत्र को सेव कर सकते है व प्रिंट निकाल सकते है।

उद्योग आधार निष्कर्ष 

हमने हमारे इस लेख मे आधार उद्योग के रजिस्टर प्रोसेस के बारे मे समझा साथ ही यह भी देखा की आधार उद्योग क्या होता है इसके फायदे क्या है इत्यादी। आधार उद्योग के फायदे व इसके बनने के बाद सरकार हमे किस तरह से मदद करती है सभी के बारे मे जानने की कोशिश की है। उम्मीद करते है की आपको यह लेख पसंद आया होगा। 

Leave a Reply